Sunday , September 26 2021
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड : सामूहिक नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी कांग्रेस!

उत्तराखंड : सामूहिक नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी कांग्रेस!

चर्चाओं पर लगा विराम

  • पार्टी प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने खुद आगे आकर स्पष्ट की स्थिति
  • कहा, हरीश के चेहरे को आगे रखकर चुनाव लड़ा जाएगा, ऐसा बयान बेबुनियाद

देहरादून। यहां प्रदेश कांग्रेस में विभिन्न ओहदों पर सूची जारी होने के बाद चेहरे पर सियासत शुरू हो गई। कांग्रेस का एक गुट जहां पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित कर चुनाव में जाने की बात कह रहा है, वहीं दूसरा गुट इसके विरोध में बातें कर रहा है। अब इन सबके बीच पार्टी प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने साफ किया है कि पार्टी सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी और सत्ता में आने पर विधायक दल ही अपने नेता का चुनाव करेगा। 
हरीश रावत को चुनाव संचालन समिति का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद पार्टी का एक गुट लगातार इस बात पर जोर दे रहा है कि हरीश रावत ही पार्टी का सीएम का चेहरा हैं। पार्टी उन्हीं के चेहरे पर चुनाव लड़ेगी। एक दिन पहले नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के इस मामले में अलग-अलग बयान सामने आए।
कांग्रेस मुख्यालय में भी इस बात को लेकर चर्चाओं का दौर जारी रहा। इस पर पार्टी प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने खुद आगे आकर स्थिति स्पष्ट की। मीडिया से बातचीत में यादव ने बताया कि हरीश रावत कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं और पार्टी के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। लेकिन उनके चेहरे को आगे रखकर पार्टी चुनाव में जाएगी, ऐसा बयान किसी ने जारी नहीं किया है। देवेंद्र ने कहा कि चुनाव सामूहिक नेतृत्व में एकजुट होकर ही लड़ा जाएगा। सत्ता में आने पर चुने गए विधायक और पार्टी आलाकमान इस मुद्दे पर फैसला लेंगे। 
हरीश रावत भी सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ने को तैयार हैं। यह बात उन्होंने खुद अपनी फेसबुक पोस्ट में स्पष्ट की है। उन्होंने लिखा है कि राज्य में केवल अध्यक्ष पद पर चेहरा बदला है, नेतृत्व आज भी वही पुराना है। पार्टी कार्यकर्ताओं को सीख देते हुए उन्होंने लिखा है कि अपने पोस्टरों में, अपने व्यवहार में, सभी नेताओं को महत्व दें। नेतृत्व एक दिन में ही नहीं बनता है, पोस्टरों की राजनीति से न कोई बनता है, न बिगड़ता है, हां पार्टी का वातावरण जरूर बिगड़ जाता है।
कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर पूर्व विधायक गणेश गोदियाल की नियुक्ति को भाजपा के लिए खतरे की घंटी बताया है। मीडिया को जारी बयान में धीरेंद्र ने कहा प्रीतम सिंह ने चार साल में कांग्रेस को जो मजबूती दी है, अब हरीश रावत, प्रीतम सिंह और गणेश गोदियाल मिलकर इसमें सफल होंगे। उन्होंने कहा कि गणेश गोदियाल ने रमेश पोखरियाल निशंक जैसे बड़े नेता को घर बिठाने और पौड़ी जिला छोड़ने पर मजबूर कर दिया था। पूर्व राज्य मंत्री मनीष कुमार ने कहा कि हाईकमान ने सोच समझकर यह फैसला लिया है। अब समय आ गया कि जब कांग्रेस के सामने सत्ता में वापसी के लिए मिलकर काम करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

About team HNI

Check Also

मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना के 3 वर्ष पूर्ण होने पर आरोग्य मंथन 3.0 कार्यक्रम में प्रतिभाग किया

आयुष्मान कार्ड बनाने का कोई शुल्क नहीं लिया जायेगा-सीएमआयुष्मान योजना के तहत सभी अस्पतालों का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *