Sunday , September 26 2021
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड : छलका सफाईकर्मियों के सब्र का पैमाना, कहा- अब होगी आरपार की लड़ाई

उत्तराखंड : छलका सफाईकर्मियों के सब्र का पैमाना, कहा- अब होगी आरपार की लड़ाई

देहरादून। आज रविवार को भी सातवें दिन देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ के बैनर तले सफाई कर्मचारियों का आंदोलन जारी रहा। देहरादून नगर निगम परिसर में धरना-प्रदर्शन कर रहे सफाईकर्मियों ने कहा कि अब आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी और हम सब इसके लिए तैयार हैं। जब तक हमारी 11 सूत्री मांगों को लेकर सकारात्मक निर्णय नहीं होगा, हम चुप नहीं बैठेंगे।
आज रविवार को देहरादून में लगातार सातवें दिन कार्यबहिष्कार कर धरना-प्रदर्शन करते हुए आउटसोर्स सफाई कर्मचारियों ने अपनी मांगों पर कार्रवाई न होने पर नाराजगी जताई। संघ के पदाधिकारी राकेश कुमार और मुकेश कुमार ने कहा कि कोरोना काल में सबसे आगे रहकर और अपनी जान जोखिम में डालकर काम करने वाले सफाईकर्मियों की आज सरकार सुध भी नहीं ले रही है। जब तक हमारी मांगों पर कार्रवाई नहीं होती, हम आंदोलन खत्म नहीं करेंगे।
बीते शनिवार को राहुल-प्रियंका गांधी सेना के अध्यक्ष मदन लाल और आप नेता बिल्लू वाल्मीकि ने आंदोलन को अपना समर्थन दिया था। सामाजिक कार्यकर्ता मोहन काला ने कहा कि महंगाई के इस दौर में आठ हजार रुपये में काम कर रहे सफाई कर्मचारियों की वेतन बढ़ाने की मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार होना चाहिए। इस दौरान राजेंद्र मंचल, मुकेश कुमार, राकेश कुमार, सोनू, मणिकांत, मन्नू, अनिल बांगडी, दिनेश कुमार, सतीश, विनोद, संजय, सोमप्रकाश, पुष्पा, बिमला, रंजनी, ऊषा, आशा, बबीता मौजूद रहे।
आज रविवार को चंपावत जिले के टनकपुर में कांग्रेस के पूर्व विधायक हेमेश खर्कवाल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पर्यावरण मित्रों के आंदोलन को समर्थन दिया। हेमेश खर्कवाल और कांग्रेस कार्यकर्ता उनके साथ धरने पर बैठ गए। उधर हल्द्वानी में सफाई कर्मियों की हड़ताल के चलते सफाई व्यवस्था चौपट हो गई है। हल्द्वानी में महिला कॉलेज के सामने सड़क पर फैले कूड़े को लोग खुद ही साफ करने लगे। इस दौरान पुलिस तैनात रही। वहीं सफाई कर्मियों की हड़ताल के चलते सफाई व्यवस्था न होने और पार्षदों पर दर्ज किए गए मुकदमों के विरोध में यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार का पुतला दहन भी किया।

About team HNI

Check Also

मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना के 3 वर्ष पूर्ण होने पर आरोग्य मंथन 3.0 कार्यक्रम में प्रतिभाग किया

आयुष्मान कार्ड बनाने का कोई शुल्क नहीं लिया जायेगा-सीएमआयुष्मान योजना के तहत सभी अस्पतालों का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *