Wednesday , May 18 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड में मोदी ने कांग्रेस पर किये ये प्रहार!

उत्तराखंड में मोदी ने कांग्रेस पर किये ये प्रहार!

  • कहा, जनरल बिपिन रावत को गुंडा कहने वाली कांग्रेस आज उनके नाम पर मांग रही वोट

श्रीनगर । आज गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां एनआईटी के मैदान में चुनावी सभा को सबसे पहले अपना संबोधन गढ़वाली में शुरू किया। मोदी ने कहा कि देवभूमि की माटी को माथे लगाने का मन था। बाबा केदार ने मुझे पुकारा और मैं यहां सीधे चला आया। वीरांगना तीलू रौतेली, पंथ्या दादा, माधो सिंह भंडारी जैसे वीरों की भूमि को मैं प्रणाम करता हूं।
उन्होंने कहा कि पौड़ी गढ़वाल के ऐसे ही वीर सपूत जनरल बिपिन रावत जी की स्मृतियाँ मुझे भावुक कर रही हैं। उन्होंने देश को दिखाया कि उत्तराखंड के लोगों के पास न केवल पहाड़ जैसा साहस होता है बल्कि हिमालय जैसी ऊंची सोच भी होती है।
उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के लोग कभी भूल नहीं सकते। सेना को लेकर इन लोगों का रवैया क्या रहा है। सेना पर ही सवाल उठाते रहे हैं। मेरे मन में एक गहरी तकलीफ़ भी है। मुझे ये ज़िक्र इसलिए भी करना पड़ रहा है क्योंकि काँग्रेस पार्टी कभी जनरल बिपिन रावत जी को सड़क का गुंडा कहकर अपमानित कर रही थी। आज अपने प्रचार में उन्हीं के कट आउट लगाकर, उनकी फोटो लगाकर वोट मांग रही है। कुर्सी के लिए कोई इस सीमा तक जा सकता है, मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा।
उन्होंने कहा कि इतने सालों तक ये सत्ता में थे, लेकिन ‘वन रैंक वन पेंशन’ को लेकर झूठ बोलते रहे। ये हमारी ही सरकार है जिसने ‘वन रैंक, वन पेंशन’ की व्यवस्था लागू की। ये भी भाजपा सरकार ही है, जो देहरादून में उत्तराखंड के शहीदों के सम्मान में ‘सैन्य धाम’ बना रही है। जब अलग उत्तराखंड राज्य बना था, अटल बिहारी वाजपेयी ने आपके सपनों को साकार करने के लिए बड़ा महत्वपूर्ण निर्णय लिया था।  
मोदी ने दावा किया कि भाजपा का संकल्प पत्र उत्तराखंड का विकास करेगा। कल ही उत्तराखंड भाजपा ने अपना संकल्प पत्र जारी किया है। ये संकल्प पत्र, इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में बड़ी भूमिका निभाएगा। इसमें उत्तराखंड के विकास के लिए, यहां के युवाओं, महिलाओं, किसानों, सभी के लिए नए संकल्प लिए गए हैं।
मोदी ने कहा कि जब ये सत्ता में थे, तब इनको कभी ‘चारधाम’ की याद नहीं आई। जिन्हें यहां आस्था ही नहीं, उन्हें भी अब चारधाम की याद क्यों आ रही है? क्योंकि, उन्हें ये कुर्सी हासिल करने का रास्ता लग रहा है। जबकि भाजपा के लिए चारधाम और देवभूमि का विकास आस्था, संस्कृति और जनसेवा का विषय है। कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, तीरथ सिंह रावत, राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी, कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत भी शामिल रहे।

About team HNI

Check Also

चारधाम यात्रा-2022 का हुआ औपचारिक शुभारंभ

चारो धामों के लिए 30 वाहनों में 1200 श्रद्धालु हुए रवाना, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल …

Leave a Reply