Tuesday , December 1 2020
Breaking News
Home / लाइफ़स्टाइल / जिस घर में होती हैं ये चीजें वहां नहीं आता धन और शांति

जिस घर में होती हैं ये चीजें वहां नहीं आता धन और शांति

हिन्दू धर्म में घर को बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है। घर होना चाहिए वास्तु अनुसार। सबसे उत्तम दिशा उत्तर और ईशान मानी गई है। पूर्व, पश्चिम और वायव्य दिशा मध्यम है जबकि आग्नेय, दक्षिण, नैऋत्य दिशा सबसे खराब मानी जाती है। अब आप ही तय करें कि घर किस दिशा में होना चाहिए। ईशान दिशा में आकाश कुछ ज्यादा ही खुला होता है क्योंकि धरती उस दिशा में अपने अक्ष पर छुकी हुई है। यही कारण है कि इस दिशा को देव दिशा कहा गया है।

घर में कौन सी वस्तुएं होना चाहिए और कौन सी नहीं यह भी बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। पीतल, सोना, तांबा उत्तम, कांसा, चांदी, जस्ता, मध्यम और लोहा, स्टील, एल्युमिनियम आदि निम्नतम है। घर या किचन में अधिकतर पीतल, तांबा, कांसा, लकड़ी और चांदी की वस्तुएं होना चाहिए। लोहे की अलमारी की जगह लकड़ी की अलमारी रखें। तिजोरी लौहे की रख सकते हैं। घर में प्लास्‍टिक के सामान तो बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए।

टूटी हुई वस्तुएं:

घर में टूटा हुआ या चटका हुआ गिलास, टूटे-फूटे बर्तन, दर्पण, इलेक्ट्रॉनिक सामान, तस्वीर, फर्नीचर, पलंग, घड़ी, दीपक, झाड़ू, मग, कप, देवी देवताओं के फटे चित्र, खंडित मूर्तियां आदि कोई-सा भी सामान घर में नहीं रखना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है और व्यक्ति मानसिक परेशानियां झेलता है।

खराब तस्वीरें:

ताजमहल, युद्ध, फव्वारे, झरने, हिंसक जानवर, कांटेदार पौधे, रेगिस्तान, सूखा पहाड़, सूनेपन को दर्शाते चित्र आदि तरह की तस्वीरें घर में नहीं होना चाहिए। इससे घर में उदासी, निराशा, कलह और अशांति के भाव पैदा होते हैं।

पुराने या फटे कपड़े :

अक्सर लोग घरों की अलमारी या दीवान में फटे-पुराने कपड़ों की एक पोटली रखते हैं। फटे-पुराने कपड़ों या चादरों से भी घर में नकारात्मक मानसिकता और ऊर्जा का निर्माण होता है।

कबाड़ :

अक्सर देखा गया है कि लोग घर में अटाला या कबाड़ जमा कर रखते हैं। इसमें लोहे, प्लास्टिक और कांच की वस्तुएं ज्यादा होती है जोकि सही नहीं है। कबाड़ से कबाड़ा हो जाता है। घर में यदि प्लास्टिक है तो यह उर्जा का कुचालक होता है।

फटे जुते और चप्पल :

पुराने या टूटे हुए जूते-चप्पल आपको आगे बढ़ने से रोक देते हैं। इन्हें भी घर से निकाल दें।

पर्स या तिजोरी:

पर्स फटा और तिजोरी टूटी हुई है तो कैसे लक्ष्मी का आगमन होगा? पर्स में चाबियां या किसी भी प्रकार की अपवित्र वस्तुएं न रखें। पर्स या तिजोरी में धार्मिक और पवित्र वस्तुएं रखें जिनसे सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है और जिन्हें देखकर मन प्रसन्न होता है।

टूटी या खुली अलमारी :

किताबें रखने या कुछ छोटा-मोटा सामान रखने वाली अलमारियों को बंद करने का दरवाजा नहीं है या उनमें कांच नहीं लगा है तो वह खुली मानी जाएगी। माना जाता है कि ऐसी अलमारी के होने से हर तरह के कार्यों में रुकावट आती है और धन भी पानी की तरह बह जाता है।

पत्थर, नग या नगिना :

कई लोग अपने घर में अनावश्यक पत्थर, नग, अंगुठी, ताबिज या अन्य इसी तरह के सामान घर में कहीं रख छोड़ते हैं। यह मालूम नहीं रहता है कि कौन-सा नग फायदा पहुंचा रहा है और कौन-सा नग नुकसान पहुंचा रहा है। इसलिए इस तरह के सामान को घर से बाहर निकाल दें। एक छोटा सा पत्थर भी आपके भाग्य को दुर्भाग्य में बदलने की क्षमता रखा है। यदि यह घर में रखा है तो इसकी उर्जा धीरे धीरे आपके घर के वातावरण को बदल कर रख देगी।

वस्तुओं के अलावा ये भी घर में नहीं होना चाहिए…

दीवारों की दरारें : घर की दीवारों को दरारें आ गई है तो उन्हें तुरंत ठीक करवा लें। इससे धन की हानी होती है और मानसिक शांति भी चली जाती है।

loading...

About team HNI

Check Also

वीडियो :इस लड़की ने खुलेआम चाचा को अपने जिस्म से खेलने का दिया ऑफर,फिर दोनों हो गये शुरू

लड़की ने खुलेआम चाचा को किया इनवाइट, फिर दोनों चालू लड़की ने खुलेआम चाचा को किया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Traffic Bot