Saturday , October 16 2021
Breaking News
Home / उत्तरप्रदेश / लखीमपुर हिंसा के बाद पहली बार अमित शाह से मिले अजय मिश्रा

लखीमपुर हिंसा के बाद पहली बार अमित शाह से मिले अजय मिश्रा

लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा के बाद पार्टी आलाकमान की ओर से तलब किए जाने की अटकलों के बीच केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी बुधवार को नॉर्थ ब्लॉक स्थित गृह मंत्रालय के दफ्तर पहुंचे और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। बता दें कि लखीमपुर कांड के बाद मिश्रा और शाह के बीच यह पहली मीटिंग थी। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी ने बुधवार को ही सफाई दी थी कि उन्हें पार्टी हाईकमान की ओर से तलब नहीं किया गया। विपक्षी पार्टियां भी टेनी का इस्तीफा मांग रही हैं। 

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री मिश्रा नॉर्थ ब्लॉक में पहली मंजिल पर स्थित अपने कार्यालय में आए और करीब आधे घंटे तक वहां रहे। कुछ आधिकारिक कामकाज करने के बाद मिश्रा नॉर्थ ब्लॉक से रवाना हो गए। इसके बाद वह शाह के आवास पर गए, जहां वह करीब आधे घंटे तक रहे। ऐसा माना जा रहा है कि मिश्रा ने गृह मंत्री को उत्तर प्रदेश में अपने गृह जिले लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई घटना के बारे में बताया। पुलिस ने रविवार की घटना में किसानों की मौत को लेकर अजय कुमार मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा और सात अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।

ये भी पढ़ें..

केंद्रीय मंत्री का बेटा नहीं है जीप से उतरकर भागता दिख रहा शख्स

प्रियंका गांधी गिरफ्तार: पीएसी गेस्ट हाउस बनाया गया अस्थायी जेल

हमसे फेसबुक में जुड़ने के लिए यहाँ click करे

इस बीच खबर ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलेपमेंट (बीपीआरडी) ने अपने उस कार्यक्रम को फिलहाल स्थगित कर दिया है जिसमें केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया गया था। कार्यक्रम को होल्ड पर डालने के लिए बीपीआरडी की ओर से कोई स्पष्ट कारण भी नहीं बताया गया है। सूत्रों के मुताबिक, अजय मिश्रा टेनी को बीपीआरडी द्वारा आयोजित ‘सेवंथ नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑफ हेड्स ऑफ प्रीजन ऑफ ऑल स्टेट्स/यूनियन टेरिटरीज’ में हिस्सा लेना था। हालांकि, बीपीआरडी के प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि 7 अक्टूबर को होने वाले इस कार्यक्रम को फिलहाल होल्ड पर डाल दिया गया है। 

हिंसा में आया है केंद्रीय मंत्री के बेटे का नाम

रविवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा टेनी का नाम भी आया है। आशीष पर आरोप है कि उन्होंने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे किसानों को गाड़ी से कुचला। हालांकि, अजय मिश्रा और आशीष मिश्रा दोनों ने ही इन आरोपों को खारिज किया है। 

लखीमपुर की हिंसा में कुल आठ लोगों की जान गई थी। इनमें से चार किसान थे। बाकी चार में से एक पत्रकार रमन कश्यप और तीन बीजेपी के कार्यकर्ता थे। रविवार की हिंसा के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने आरोप लगाया था कि जिस गाड़ी से किसानों को कुचला गया, उसे अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा चला रहे थे। हालांकि, आशीष ने इन आरोपों को खारिज किया है। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। आशीष मिश्रा और अन्य लोगों के खिलाफ हत्या, आपराधिक षड्यंत्र सहित कुल 20 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है।

About team HNI

Check Also

प्रियंका गांधी गिरफ्तार: PAC गेस्ट हाउस बनाया गया जेल

उत्तर प्रदेश पुलिस ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को गिरफ्तार कर लिया है। अब ताजा …

Leave a Reply